हर देश या प्रदेश की कोई न कोई शराब प्रसिद्ध होती है, फ्रांस में कॉग्नैक, जापान में साके, कोरिया में सोजू तो स्कॉटलैंड स्कॉच के लिए प्रसिद्ध है. बात भारत की करें, तो गोवा में फेनी, केरला में टोडी, नॉर्थ इंडिया को राइस बीयर प्रसिद्ध है. लेकिन, वहीं देश की धड़कन और खासकर छत्तीसगढ़ के बस्तर और जगदलपुर में मिलने वाली महुआ शराब इन दिनों राज्य और देश ही नहीं, बल्कि विदेशों में लोगों की डिमांड बनी हुई है. छत्तीसगढ़ के जंगलों से निकलकर महुआ अब फ्रांस पहुंच चुकी है. वहीं फ्रांस समेत अन्य देशों के लोग इसके दीवाने हुए पड़े हैं.

दरअसल, छत्तीसगढ़ में मिलने वाली महुआ शराब फ्रांस में बॉटलिंग कर बेची जा रही है. फ्रांस में ‘माह‘ (MAH) के नाम से इसे मैन्युफैक्चर कर बेचा जा रहा है. वहीं इसके साथ फ्रांस में जिसने भी इसे चखा वह इसके दीवाने हो गए हैं. हाल ऐसा है कि फ्रांस में लोग अब अंग्रेजी छोड़ महुआ शराब की तारीफ कर रहे हैं. माह के नाम से बॉटलिंग कर छत्तीसगढ़ की महुआ शराब को अब ग्लोबल लेवल पर बेचा जा रहा है.

विश्वभर में इसकी बढ़ी डिमांड

छत्तीसगढ़ में मात्र 50 से 100 रुपए में मिलने वाली महुआ शराब अब फ्रांस में 40 EUROS यानि लगभग 3500 रुपए में बिक रही है. वहीं, छत्तीसगढ़ में तो महुआ आपको सिर्फ और सिर्फ 10 रुपए प्रति ग्लास के हिसाब से उपलब्ध हो जाती है.

Promotion

छत्तीसगढ़ में भारी मात्रा में उपलब्ध

महुआ शराब राज्य के बस्तर, जगदलपुर, जशपुर, कवर्धा, राजनांदगांव, सरगुजा क्षेत्र में आपको बड़ी आसानी से मिल जाएगी. यहां के ग्रामीण महुआ का फूल इकट्ठा कर इसे खुद ही बनाते हैं और आस पास के क्षेत्रों में बेचते हैं.
महुआ की आकर्षक पैकेजिंग
फ्रांस में बिकने वाली महुआ शराब को आकर्षक पैकेजिंग के साथ एमएएच स्पिरिट्स के नाम से बेचा जा रहा है. इसकी बॉटलिंग भी बड़े ही सुन्दर तरीके से की गई है.

(the above news was originally posted on News18)